Dainik Athah

उमेश कुमार मोदी ने बच्चों की तीन माह की फीस की माफ

जिले में दयावती मोदी पब्लिक स्कूल ने बनाया कीर्तिमान अथाह संवाददातामोदीनगर। गाजियाबाद जिले में अभिभावक कोरोना…

मास्क??? क्यों ???? क्या जरुरत है ????? देखा जायेगा……..देखे फ़ोटोज़

पूरे देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेज गति से चल रही है। पहले के…

#GhaziabadCoronaUpdate: दो बंदियों समेत 179 संक्रमित, 25 को मिली छुट्टी

अथाह संवाददाता गाजियाबाद। #GhaziabadCoronaUpdate बुधवार को दो बंदियों समेत 179 कोरोना संक्रमित मिले हैं। बंदियों को कोविड…

Drone से रखेगा जिला प्रशासन लोगों पर नजर:Gzb

Drone से रखेगा जिला प्रशासन लोगों पर नजर:Gzb

UP में ESMA लागू, जाने क्या है एस्मा ?????

UP में ESMA लागू, जाने क्या है एस्मा ?????

दिल्ली से आवागमन करने वालों की रेंडम जांच शुरू

–    हाई रिस्क एरिया में जांच को अधिक प्रभावशाली बनाने के निर्देश –    इंदिरापुरम, साहिबाबाद और विजयनगर हाई रिस्क एरिया में शामिल अथाह संवाददाता गाजियाबाद  जनपद से सटे दिल्ली राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए गाजियाबाद जिला प्रशासन ने जनपद में “पोस्ट फेस्टिवल स्ट्रेटेजी’ लागू की है। इसके तहत जिला अधिकारी डा. अजय शंकर पाण्डेय ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गाँधी सभागार में चिकित्सा विभाग के अधिकारियों एवं कोविड-19 के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयारियों की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में कोविड-19 से निपटने के लिए आगे की तैयारियों एवं उसकी रोकथाम के संबंध में जानकारी एवं सुझाव लिए गए। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला अधिकारी ने हाई रिस्क एरिया में जांच कार्य को और अधिक प्रभावशाली ढंग से कराए जाने के निर्देश दिए हैं।  इसके अलावा दिल्ली की ओर से सायंकाल में वापस आने वाले लोगों पर सतर्क दृष्टि रखने के निर्देश भी जिला अधिकारी ने दिए हैं। दिल्ली आवागमन करने वाले व्यक्तियों की संख्या जिन क्षेत्रों में ज्यादा है, उन क्षेत्रों के मुख्य स्थानों पर (ईवनिंग) टेस्टिंग बूथ लगाकर दिल्ली की ओर से आने वाले व्यक्तियों की जांच कराई जाएगी। प्रतिदिन की सूचना निर्धारित प्रारूप पर तैयार रखने के निर्देश डीएम ने स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं। संवेदनशील क्षेत्रों जैसे-इन्दिरापुरम, साहिबाबाद, विजयनगर इत्यादि में अधिक सैंपलिंग हेतु बूथ लगाए जाएंगे। अधिक से अधिक जांच करने के लिए जांच टीमों की संख्या में बढ़ोतरी सुनिश्चित की जाएगी। डीएम ने निर्देश दिए हैं कि जनपद के चार चिन्हित क्षेत्र – प्रहलादगढ़ी, मकनपुर, भोवापुर एवं करहैड़ा से अधिक संख्या में मेड वर्कर, जो विभिन्न सोसाइटियों में कार्य के लिए जाते हैं, ऐसे लोगों के लिए उक्त चारों स्थानों पर मोबाइल वैन लगाकर अधिक से अधिक संख्या में कोरोना जांच कराई जाए। इसके अलावा निजी कोविड अस्पतालों में कोरोना पॉज़िटिव मरीजों को उपचार हेतु भर्ती किए जाने के संबंध में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि वह सभी निजी कोविड अस्पतालों से संबंधित मरीजों की आईडी लेकर आईडीएसपी पोर्टल पर मरीजों की सूचना अपलोड कराएं।  जिला अधिकारी ने बताया कि दिल्ली से सांयकाल में जनपद में आने वाले लोगों की रेंडम टेस्टिंग का कार्य मंगलवार सांयकाल से ही प्रारम्भ कर दिया गया है। यह जांच प्रतिदिन रेंडम आधार पर की जाएगी और रिकार्ड  सुरक्षित रखा जाएगा। 

शादी- विवाह, धर्म- कर्म आदि सामूहिक गतिविधियों में अधिकतम सौ लोगों को अनुमति

बंद स्थान पर क्षमता के 50 फीसद कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने जारी किये…

संघ की दो दिवसीय बैठक का समापन

कोरोना काल में सेवा करने वालों को अपने से जोड़ेगा संघ सर संघ चालक मोहन भागवत…

V.H.P के केंद्रीय महासचिव डा. सुरेंद्र जैन ने अपने ऊपर करवाया कोरोना टीके का परीक्षण

25 हजार स्वयं सेवकों पर होना है टीके का परीक्षण कोराना से बचने हेतु सावधानी बरतने…

Lock Down में ईमानदारी से पढ़ाई करने पर अध्यापिका ने दी साइकिल ईनाम

अथाह संवाददाताधौलाना। यूं तो बेसिक शिक्षा विभाग हमेशा लोगों के निशाने पर रहता है। लेकिन कुछ…